Business

वैश्विक बाजारों और विदेशी निवेशकों समेत अन्य किन कारकों से तय होगी बाजार की चाल, एक्सपर्ट्स से समझें


हाइलाइट्स

शेयर बाजार पिछले हफ्ते शुक्रवार को तेजी के साथ बंद हुआ था.
अगले हफ्ते तेजी के लिए वैश्विक बाजारों के समर्थन की आवश्यकता होगी.
विदेशी निवेशकों की पूंजी भी भारतीय बाजार का रुख तय करेगी.

नई दिल्ली. इस सप्ताह शेयर बाजार वैश्विक रुझान, आर्थिक आंकड़ों की घोषणा और विदेशी निवेश जैसे घटकों से प्रभावित रह सकते हैं. विश्लेषकों ने कहा कि डॉलर के मुकाबले रुपये की कीमत में आने वाले उतार-चढ़ाव और कच्चे तेल की कीमत पर भी बाजार की नजरें बनी रहेंगी. इस सप्ताह में दशहरे का त्योहार होने से कारोबारी दिन भी कम रहेंगे. स्वस्तिका इंवेस्टमेंट लिमिटेड के रिसर्च हेड संतोष मीणा ने कहा है कि बीते शुक्रवार की तेजी की उम्मीद कर रहे निवेशकों को वैश्विक बाजारों से समर्थन की आवश्यकता होगी.

पिछले सप्ताह के अंतिम कारोबारी दिन शुक्रवार को शेयर बाजारों ने लगातार सात दिनों से जारी गिरावट के रुख को पलट दिया था. बीएसई का मुख्य सूचकांक सेंसेक्स एक ही दिन में 1,016.96 अंक यानी 1.80 प्रतिशत जबकि एनएसई का निफ्टी 276.25 अंक यानी 1.64 प्रतिशत चढ़ गया था. मीणा ने कहा, “बाजार की दिशा तय करने में संस्थागत निवेशकों का रुख अहम भूमिका निभाएगा.” साथ ही उन्होंने कहा कि भू-राजनीतिक तनाव, अमेरिकी अर्थव्यवस्था के कुछ वृहद-आर्थिक आंकड़ों की घोषणा, डॉलर सूचकांक की दिशा और बॉन्ड यील्ड जैसे बिंदुओं पर निगाह रहेगी.

ये भी पढ़ें- सेसेंक्स की शीर्ष 10 में से 7 कंपनियों के निवेशकों ने गंवाए 1.16 लाख करोड़ रुपये

शुक्रवार को तेजी के बावजूद घाटे में रहा बाजार
बीते सप्ताह शेयर बाजारों में खासी गिरावट रही. साप्ताहिक आधार पर सेंसेक्स 672 अंक यानी 1.15 प्रतिशत गिर गया, जबकि सेंसेक्स में 233 अंक यानी 1.34 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई. ऐसा तब है जबकि कारोबारी हफ्ते के आखिरी दिन शुक्रवार को बाजार ने जबरदस्त तेजी बनाई और सेंसेक्स 1000 अंकों सें अधिक की बढ़त के साथ बंद हुआ.

ALSO READ  Stock Market Opening : बाजार ने बनाई बढ़त, सेंसेक्‍स 54 हजार के पार, निफ्टी ने भी दिखाया दम

आर्थिक आंकड़ों पर होगी बाजार की निगाह
बाजार की नजर कुछ महत्वपूर्ण वृहद-आर्थिक आंकड़ों पर भी रहेगी. विनिर्माण क्षेत्र के लिए खरीद प्रबंधक सूचकांक (पीएमआई) का आंकड़ा भी सोमवार को जारी होने की संभावना है. वहीं सेवा क्षेत्र से जुड़े आंकड़े गुरुवार को जारी किए जाएंगे. रेलिगेयर ब्रोकिंग लिमिटेड के उपाध्यक्ष (रिसर्च) अजीत मिश्रा ने कहा, “इस सप्ताह से एक नए महीने की शुरुआत हो रही है जिसमें वाहन बिक्री, विनिर्माण पीएमआई और सेवा पीएमआई जैसेअहम आंकड़ों पर ध्यान रहेगा. इसके अलावा विदेशी संस्थागत निवेशकों के रुख और मुद्रा एवं कच्चे तेल की चाल पर भी कारोबारियों की नजरें रहेंगी.” कोटक सिक्योरिटीज लिमिटेड के अमोल अठावले ने कहा कि आगे भी वैश्विक कारक घरेलू बाजार को प्रभावित करते रहेंगे और किसी भी तरह की नकारात्मक खबर से बाजार में फिर से गिरावट देखने को मिल सकती है.

Tags: BSE, BSE Sensex, Business news in hindi, Market cap, Share market, Stock market

Source link

Admin
TimesTrend: Hindi news (हिंदी समाचार) website, Latest Khabar, Breaking news in Hindi of India, World, Sports, business, film and Entertainment.
http://timestrend.in